Tuesday, 27 December 2016

Prasar Bharati Archive honours the great Upendra Bhanja and Akshaya Mohanty

Prasar Bharati Archives released two CDs - one containing the epic entitled Baidehisha Bilasa by one of the greatest poet of Odisha, Upendra Bhanja and another containing 35 popular Akashvani songs rendered by the renowned versatile singer, writer and composer, Late Akshaya Mohanty. Both these artists contributed significantly to Odia Culture – one revived its literature by enriching its repertoire and the other chronicled the emergence of modern Odisha.



Born to a royal family, Upendra Bhanja however remained distant from the usual accoutrements of his kingdom. Instead he penned down epics to take Odia literature to new heights – Braja Leela, Subhadra Parinaya, Labanyabati, Koti Brahmanda Sundari and of course the great epic Baidehisa Bilasa, his magnum opus. The epic in 52 cantos is an elegant portrayal of Lord Rama in the Tretaya Yuga.   
Akshaya Mohanty's popular songs rendered at Akashvani Cuttack over four decades are being released in a digital format and this rare CD includes 35 of his immortal songs that have entertained and swayed many generations. The CD’s title PUNYARA NADI TIRE (On the River Bank of Virtue) is taken from Akshaya Mohanty’s song immortalized in his own inimitable way:
On the river bank of virtue
There stood a tree of vice
On the branches of which
Nested a bird.
Could you name it please?

 Akshaya Mohanty's music is a fusion of the traditional past and scintillating optimism orchestrated by a modern Odisha beginning to open up which gave birth to immortal ballads of enduring greatness. He infused into his brand of music a new rhythm – unheard of then – so as to allow a vibrating generation to be borne in along with him. He was associated with AIR Cuttack in the early sixties; but his journey began much earlier. He created music that resonated through Odia life and brought a nuanced and typical culture to the public eye. He simultaneously made radio music popular by his riveting lyrics and unique style of singing. Cutting across classes his music aimed at reviving a culture that was on the threshold of a new era. He also scored music in 75 films, sang in twice as many films, wrote novels, short stories and even travelogues. Akshaya Mohanty was truly versatility personified
We pay tribute to two iconic figures who brought glory to our nation in their own unique way with the release of these 2 CDs. 

Sunday, 25 December 2016

‘मन की बात’

‘मन की बात’
प्रसारण तिथि: 25.12.2016

मेरे प्यारे देशवासियो, नमस्कार | आप सभी को क्रिसमस की अनेक-अनेक शुभकामनायें | आज का दिन सेवा, त्याग और करुणा को अपने जीवन में महत्व देने का अवसर है | ईसा मसीह ने कहा “गरीबों को हमारा उपकार नहीं, हमारा स्वीकार चाहिये” | Saint Luke के Gospel में लिखा है “जीसस ने न केवल गरीबों की सेवा की है, बल्कि गरीबों के द्वारा की गयी सेवा की भी सराहना की है” और यही तो असली empowerment है | इससे जुड़ी एक कहानी भी बहुत प्रचलित है | उस कहानी में बताया गया है कि जीसस एक temple treasury के पास खड़े थे | कई अमीर लोग आए, ढेर सारे दान दिए | उसके बाद एक ग़रीब विधवा आई और उसने दो तांबे के सिक्के डाले | एक तरह से देखा जाए दो तांबे के सिक्के, कुछ मायने नहीं रखते | वहाँ खड़े भक्तों के मन में, कौतुहल होना बड़ा स्वाभाविक था, तब जीसस ने कहा, कि उस विधवा महिला ने सबसे ज्यादा दान किया है, क्योंकि औरों ने बहुत कुछ दिया, लेकिन इस विधवा ने तो अपना सब कुछ दे दिया है | 

आज 25 दिसम्बर, महामना मदन मोहन मालवीय जी की भी जयन्ती है | भारतीय जनमानस में संकल्प और आत्मविश्वास जगाने वाले मालवीय जी ने आधुनिक शिक्षा को एक नई दिशा दी | उनकी जयन्ती पर भाव-भीनी श्रद्धांजलि | अभी दो दिन पहले, मालवीय जी की तपोभूमि बनारस में मुझे कई सारे विकास के कार्यों का शुभारम्भ करने का अवसर मिला | मैंने वाराणसी में, BHU में, महामना मदन मोहन मालवीय Cancer Centre का भी शिलान्यास किया है | इस पूरे क्षेत्र में निर्माण हो रहा है एक Cancer Centre | न सिर्फ़ पूर्वी उत्तर-प्रदेश, लेकिन, झारखण्ड-बिहार तक के लोगों के लिये एक बहुत बड़ा वरदान होगा |

आज, भारत रत्न एवं पूर्व प्रधानमंत्री आदरणीय अटल बिहारी वाजपेयी जी का भी जन्मदिन है | ये देश अटल जी के योगदान को कभी नहीं भुला सकता | उनके नेतृत्व में हमने परमाणु शक्ति में भी, देश का सिर ऊपर किया | पार्टी नेता हो, संसद सदस्य हो, मंत्री हो या प्रधानमंत्री, अटल जी ने प्रत्येक भूमिका में, एक आदर्श को प्रतिष्ठित किया | अटल जी के जन्मदिन पर मैं उनको प्रणाम करता हूँ और उनके उत्तम स्वास्थ्य के लिये ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ | एक कार्यकर्ता के नाते अटल जी के साथ कार्य करने का सौभाग्य मिला | अनेक स्मृतियाँ आँखों के सामने उभर करके आती हैं | आज सुबह-सुबह जब मैंने tweet किया तो एक पुराना video भी मैंने share किया है | एक छोटे कार्यकर्ता के रूप में अटल जी का स्नेह-वर्षा का सौभाग्य कैसा मिलता था, उस video को देख करके ही पता चलेगा |

आज क्रिसमस के दिन, सौगात के रूप में, देशवासियों को दो योजनाओं का लाभ मिलने जा रहा है | एक प्रकार से दो नवतर योजनाओं का आरम्भ हो रहा है | पूरे देश में, गाँव हो या शहर हो, पढ़े लिखे हो या अनपढ़ हो, cashless क्या है! cashless कारोबार कैसे चल सकता है! बिना cash खरीदारी कैसे की जा सकती है! चारों तरफ़ एक जिज्ञासा का माहौल बना है | हर कोई एक-दूसरे से सीखना-समझना चाहता है | इस बात को बढ़ावा देने के लिये, mobile banking को ताक़त मिले इसलिये, e-payment की आदत लगे इसलिये, भारत सरकार ने, ग्राहकों के लिये और छोटे व्यापारियों के लिये ‘प्रोत्साहक योजना’ का आज से प्रारंभ हो रहा है | ग्राहकों को प्रोत्साहन करने के लिये योजना है - ‘lucky ग्राहक योजना और व्यापारियों को प्रोत्साहन करने के लिये योजना है - Digi धन व्यापार योजना’ |  

आज 25 दिसम्बर को क्रिसमस की सौगात  के रूप में, पंद्रह हज़ार लोगों को draw system से ईनाम मिलेगा और पंद्रह हज़ार के हर-एक के खाते में एक-एक हज़ार रूपये का ईनाम जाएगा और ये सिर्फ़ आज एक दिन के लिये नहीं है, ये योजना आज से शुरू हो करके 100 दिन तक  चलने वाली है | हर दिन, पंद्रह हज़ार लोगों को एक-एक हज़ार रूपये का ईनाम मिलने वाला है | 100 दिन में, लाखों परिवारों तक, करोड़ों रुपयों की सौगात पहुँचने वाली है, लेकिन, ये ईनाम के हक़दार आप तब बनेंगे जब आप mobile banking, e-banking, RuPay Card, UPI, USSD ये जितने digital भुगतान के तरीक़े हैं उनका उपयोग करोगे, उसी के आधार पर draw निकलेगा | इसके साथ-साथ ऐसे ग्राहकों के लिये सप्ताह में एक दिन बड़ा draw होगा जिसमें ईनाम भी लाखों में होंगे और तीन महीने के बाद, 14 अप्रैल डॉक्टर बाबा साहेब आंबेडकर की जन्म जयन्ती है उस दिन एक bumper draw होगा जिसमें करोड़ों के ईनाम होंगे | ‘Digi धन व्यापार योजना’ प्रमुख रूप से व्यापारियों के लिये है | व्यापारी स्वयं इस योजना से जुडें और अपना कारोबार भी cashless बनाने के लिए ग्राहकों को भी  जोड़ें | ऐसे व्यापारियों को भी अलग़ से ईनाम दिये  जाएँगे और ये ईनाम हज़ारों की तादात में हैं | व्यापारियों का अपना व्यापार भी चलेगा और ऊपर से ईनाम का अवसर भी मिलेगा |

 ये योजना, समाज के सभी वर्गों, खास करके ग़रीब एवं निम्न मध्यम-वर्ग, उनको केंद्र में रख करके बनायी गई है और इसलिये जो 50 रूपये से ऊपर खरीदते हैं और तीन हज़ार से कम पैसों की खरीदी करते हैं, उन्हीं को इसका लाभ मिलेगा | तीन हज़ार रुपये से ज़्यादा खरीदी करने वाले को इस ईनाम का लाभ नहीं मिलेगा | ग़रीब से ग़रीब लोग भी USSD का इस्तेमाल कर feature फोन, साधारण फोन के माध्यम से भी सामान खरीद भी सकते हैं, सामान बेच भी सकते हैं और पैसों का भुगतान भी कर सकते हैं और वे सब इस ईनाम योजना के लाभार्थी भी बन सकते हैं | ग्रामीण क्षेत्रों में भी लोग AEPS के माध्यम से खरीद-बिक्री कर सकते हैं और वे भी ईनाम जीत सकते हैं | कइयों को आश्चर्य होगा, भारत में आज लगभग 30 करोड़ RuPay Card हैं, जिसमें से 20 करोड़ ग़रीब परिवार जो जन-धन खाता वाले लोग हैं, उनके पास है | ये 30 करोड़ लोग तो तुरंत इस ईनामी योजना का हिस्सा बन सकते हैं | मुझे विश्वास है कि देशवासी इस व्यवस्था में रुचि लेंगे और आपके अगल-बगल में जो नौजवान होंगे, वो ज़रूर इन चीज़ों को जानते होंगे, आप थोड़ा सा उनको पूछोगे वो बता देंगे | अरे, आपके परिवार में भी 10वीं-12वीं का बच्चा होगा, तो वो भी भली-भाँति चीज़ आपको सिखा देगा | ये बहुत सरल है - जैसे आप मोबाइल फोन से WhatsApp भेजते हैं न उतना ही सरल है |

      मेरे प्यारे देशवासियो, मुझे ये जान करके ख़ुशी होती है कि देश में technology का उपयोग कैसे करना, e-payment कैसे करना, online payment कैसे करना, इसकी जागरूकता बहुत तेज़ी से बढ़ रही है | पिछले कुछ ही दिनों में cashless कारोबार, बिना नगद का कारोबार, 200 से 300 प्रतिशत बढ़ा है | इसको बढ़ावा देने के लिये भारत सरकार ने एक बहुत बड़ा फैसला लिया है | ये फैसला कितना बड़ा है इसका अंदाज़ तो व्यापारी बहुत अच्छी तरह लगा सकते हैं | जो व्यापारी digital लेन-देन करेंगे, अपने कारोबार में नगद के बज़ाय online payment की पद्धति विकसित करेंगे, ऐसे व्यापारियों को Income Tax में  छूट दे दी गई है |

मैं देश के सभी राज्यों को भी बधाई देता हूँ | Union Territory को भी बधाई देता हूँ | सबने अपने-अपने प्रकार से इस अभियान को आगे बढ़ाया है | आंध्र के मुख्यमंत्री श्रीमान् चंद्रबाबू नायडू की अध्यक्षता में एक committee भी बनाई है, जो इसके लिये अनेक योजनाओं पर विचार कर रही है, लेकिन मैंने देखा कि सरकारों ने भी अपने तरीक़े से कई योजनाएँ लागू की है, आरंभ की है |

 किसी ने मुझे बताया की असम सरकार ने property tax और व्यापार license fee का digital भुगतान करने पर 10 फ़ीसदी छूट देने का निर्णय किया है | ग्रामीण बैंको के branch अपने 75% उपभोक्ता से जनवरी से मार्च के बीच कम से कम दो digital transaction करवाते हैं, तो उन्हें सरकार की ओर से 50 हज़ार रूपये ईनाम मिलने वाले हैं | 31 मार्च 2017 तक अगर 100% digital transaction करने वाले गाँवों को सरकार की ओर से Uttam Panchayat for Digi-Transaction के तहत 5 लाख रुपये का ईनाम देने की उन्होंने घोषणा की है | उन्होंने किसानों के लिये Digital Krishak Shiromani असम सरकार ने ऐसे पहले 10 किसानों को 5 हज़ार रुपया ईनाम देने का निर्णय किया है जो बीज और खाद की ख़रीद के लिए पूरी तरह digital भुगतान का इस्तेमाल करते हैं | मैं असम सरकार को बधाई देता हूँ लेकिन इस प्रकार से initiative लिये सभी सरकारों को बधाई देता हूँ | कई Organisations ने भी गाँव ग़रीब किसानों के बीच digital लेन-देन को बढ़ावा देने के कई सफल प्रयोग किये हैं | मुझे किसी ने बताया GNFC Gujarat Narmada valley Fertilizer और Chemical limited जो मुख्यतः खाद का काम करता है, उन्होंने किसानों को सुविधा हो इसलिये एक हज़ार Pose Machine खाद जहाँ बेचते हैं, वहाँ लगाए हैं और कुछ ही दिनों में 35 हज़ार किसानों को 5 लाख खाद के बोरे digital भुगतान के माध्यम से कर दिये और ये सब सिर्फ दो हफ्ते में किया है | और मज़ा यह है कि पिछले वर्ष की तुलना में GNFC की खाद की बिक्री में 27 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है |

      भाइयो-बहनो, हमारी अर्थव्यवस्था में, हमारी जीवन व्यवस्था में, Informal Sector बहुत बढ़ा है और ज्यादातर इन लोगों का मज़दूरी का पैसा, काम का पैसा या पगार नग़द में दिया जाता है, Cash में salary दी जाती है और हमें पता है, उसके कारण मजदूरों का शोषण भी होता है | 100 रूपए मिलने चाहिये तो 80 मिलते हैं, 80 मिलने चाहिये तो 50 मिलते हैं और insurance जैसे health sector की दृष्टि से अन्य कई सुविधाएँ होती हैं उससे वो वंचित रह जाते हैं लेकिन अब cashless payment हो रहा है | 

सीधा पैसा बैंक में जमा हो रहा है | एक प्रकार से Informal Sector formal convert होता जा रहा है, शोषण बंद हो रहा है, cut देना पड़ता था वो cut भी अब बंद हो रहा है और मज़दूर को, कारीगर को, ऐसे ग़रीब व्यक्ति को पूरे पैसे मिलना संभव हुआ है | साथ-साथ अन्य जो लाभ मिलते हैं वे लाभ का भी वो हक़दार बन रहा है | हमारा देश तो सर्वाधिक युवाओं वाला देश है | Technology हमें सहज़ साध्य है | भारत जैसे देश ने तो इस क्षेत्र में सबसे आगे होना चाहिये | हमारे नौजवानों ने Start-Up से काफ़ी प्रगति की है | ये digital movement एक सुनहरा अवसर है हमारे नौजवान नये-नये idea के साथ, नयी-नयी technology के साथ, नयी-नयी पद्धति के साथ इस क्षेत्र को जितना बल दे सकते हैं देना चाहिये, लेकिन देश को काले धन से, भ्रष्टाचार से मुक्त कराने के अभियान में पूरी ताक़त से हमें जुड़ना चाहिये |

      मेरे प्यारे देशवासियो, मैं हर महीने ‘मन की बात’ के पहले लोगों से आग्रह करता हूँ कि आप मुझे अपने सुझाव दीजिये, अपने विचार बताइए और हज़ारों की तादाद में MyGov पर और NarendraModiApp पर इस बार जो सुझाव आये, मैं कह सकता हूँ 80-90 प्रतिशत सुझाव भ्रष्टाचार और काले धन के ख़िलाफ़ की लड़ाई के संबंध में आये, नोटबंदी की चर्चा आयी | इन सारी चीज़ों को जब मैंने देखा तो मैं मोटे-मोटे तौर पर कह सकता हूँ कि मैं उसको तीन भागों में विभाजित करता हूँ | कुछ लोगों ने जो मुझे लिखा है, उसमें नागरिकों को कैसी-कैसी कठिनाइयाँ हो रही है, कैसी असुविधायें हो रही हैं | इसके संबंध में विस्तार से लिखा है | लिखने वालों का दूसरा तबक़ा वो है जिन्होंने ज्यादातर उन बातों पर बल दिया है कि इतना अच्छा काम, देश की भलाई का काम, इतना पवित्र काम, लेकिन उसके बावजूद भी कहाँ-कहाँ कैसी-कैसी धांधली हो रही है, किस प्रकार से बेईमानी के नये-नये रास्ते खोज़े जा रहे हैं, इसका भी ज़िक्र लोगों ने किया है | और तीसरा वो तबक़ा है जिन्होंने जो हुआ है, उसका तो समर्थन किया है लेकिन साथ-साथ ये लड़ाई आगे बढ़नी चाहिये | भ्रष्टाचार, काला धन पूर्णतः नष्ट होना चाहिये, इसके लिए और कठोर कदम उठाने चाहिये तो उठाने चाहिये, ऐसा बड़ा ही बल दे करके लिखने वाले लोग भी हैं |

      मैं देशवासियों का आभारी हूँ कि इतनी सारी चिट्ठियाँ लिख करके मुझे आपने मदद की है | श्रीमान गुरुमणि केवल ने My Gov पर लिखा है काले धन पर लगाम लगाने का ये कदम प्रसंशा के योग्य है I हम नागरिकों को परेशानी हो रही है, लेकिन हम सब भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रहे हैं और इस लड़ाई में हम जो सहयोग दे रहे हैं, उससे हम खुश हैं I हम भ्रष्टाचार, काला धन इत्यादि के खिलाफ़ Military Forces की तरह लड़ रहे हैं I गुरु मणिकेवल जी ने जो बात लिखी है देश के हर कोने में से यही भावना उजागर हो रही है I हम सब इसको अनुभव कर रहे हैं I लेकिन ये बात सही है जब जनता कष्ट झेलती है, तकलीफ झेलती है तो कौन इंसान होगा जिसको पीड़ा न होती हो I जितनी पीड़ा आपको होती है, उतनी ही पीड़ा मुझे भी होती है I लेकिन एक उत्तम ध्येय के लिये, एक उच्च इरादे को पार करने के लिये, साफ नीयत के साथ जब काम होता है तो ये कष्ट के बीच, दुख के बीच, पीड़ा के बीच भी देशवासी हिम्मत के साथ डटे रहते हैं I ये लोग ही असल में Agent of Change बदलाव के पुरोधा हैं I

 मैं लोगों को एक और कारण के लिये भी धन्यवाद देता हूँ कि उन्होंने न केवल परेशानियाँ उठाई हैं, बल्कि उन चुनिन्दा लोगों को करारा जवाब भी दिया है, जो जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं I कितनी सारी अफवाहें फैलाइ गई I भ्रष्टाचार और काले धन जैसी लड़ाई को भी साम्प्रदायिकता के रंग से रंगने का भी कितना प्रयास किया गया I किसी ने अफवाह फैलाइ नोट पर लिखी Spelling गलत है, किसी ने कह दिया नमक का दाम बढ़ गया है, किसी ने अफवाह चला दी 2000 के नोट भी जाने वाली है, 500 और 100 के भी जाने वाली है, ये भी फिर से जाने वाला है, लेकिन मैंने देखा भाँति-भाँति अफवाहों के बावज़ूद भी देशवासियों के मन को कोई डुला नहीं सका है I इतना ही नहीं, कई लोग मैदान में आए, अपने Creativity के द्वारा , अपने बुद्धि शक्ति के द्वारा अफवाह फैलाने वालों को भी बेनकाब किया, अफवाहों को भी बेनकाब कर दिया और सत्य लाकर के खड़ा कर दिया I मैं जनता के इस सामर्थ्य को भी शत-शत नमन करता हूँ I

मेरे प्यारे देशवासियो, ये मैं साफ अनुभव कर रहा हूँ, हर पल अनुभव कर रहा हूँ I जब सवा-सौ करोड़ देशवासी आपके के साथ खड़े हों तब कुछ भी असंभव नहीं होता है और जनता जनार्दन ही तो ईश्वर का रूप होती है और जनता के आशीर्वाद, ईश्वर के ही आशीर्वाद बन जाते हैं I मैं देश की जनता को धन्यवाद देता हूँ, उन्हें नमन करता हूँ कि भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ इस महायज्ञ में लोगों ने पूरे उत्साह के साथ भाग लिया है I मैं चाहता था कि सदन में भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ जो लड़ाई चल रही है राजनैतिक दलों के लिये भी, Political Funding के लिये भी, व्यापक चर्चा हो I अगर सदन चला होता तो ज़रूर अच्छी चर्चा होती I जो लोग अफवाहें फैला रहे हैं कि राजनैतिक दलों को सब छूट-छाट है, ये गलत है I 

कानून सब के लिये समान होता है और कानून का पालन भी चाहे व्यक्ति हो, संगठन हो या राजनैतिक दल हो, हर किसी को कानून का पालन करना ही होता है और करना ही पड़ेगा I जो लोग खुल कर के भ्रष्टाचार और काले धन का समर्थन नहीं कर पाते हैं, वे सरकार की कमियाँ ढूंढने के लिए पूरी देर लगे रहते हैं I एक बात ये भी आती है बार-बार नियम क्यों बदलते हैं I ये सरकार जनता-जनार्दन के लिये है I जनता का लगातार feedback लेने का प्रयास सरकार करती है I 

जनता-जनार्दन को कहाँ कठिनाई हो रही है! किस नियम के कारण दिक्कत आती है! उसका क्या रास्ता खोजा जा सकता है! हर पल सरकार एक सवेंदनशील सरकार होने के कारण जनता-जनार्धन की सुख-सुविधा को ध्यान में रखते हुए जितने भी नियम बदलने पड़ते हैं, बदलती है, ताकि लोगों की परेशानी कम हो I दूसरी तरफ, मैंने पहले ही दिन कहा था, 8 तारीख को कहा था, ये लड़ाई असामान्य है I 70 साल से बेईमानी और भ्रष्टाचार के काले कारोबार में कैसी शक्तियाँ जुड़ी हुई है? उनकी ताक़त कितनी है? ऐसे लोगों से मैंने जब मुकाबला करना ठान लिया है तो वे भी तो सरकार को पराजित करने के लिए रोज नये तरीके अपनाते हैं I जब वो नये तरीके अपनाते हैं तो हमें भी तो उसके काट के लिये नया तरीका अपनाना पड़ता है I तू डाल-डाल, तो मैं पात-पात, क्योंकि हमने तय किया है कि भ्रष्टाचारियों को, काले कारोबारों को, काले धन को, मिटाना है I दूसरी तरफ, कई लोगों के पत्र इस बात को लेकर के आए हैं जिसमें किस प्रकार की धाँधलियां हो रही हैं, किस प्रकार से नये-नये रास्ते खोजे जा रहे हैं इसकी चर्चा है I

मैं प्यारे देशवासियों को एक बात का हृदय से अभिनन्दन करना चाहता हूँ I आज आप लोग टी.वी. पर समाचार-पत्रों में देखते होंगे! रोज़ नये-नये लोग पकड़े जा रहे हैं! नोटें पकड़े जा रहे हैं! छापे मारे जा रहे है! अच्छे-अच्छे लोग पकड़े जा रहे हैं I ये कैसे संभव हुआ है? मैं Secret बता दूँ I Secret ये है कि जानकारियाँ मुझे लोगों की तरफ से मिल रही हैं I सरकारी व्यवस्था से जितनी जानकारी आती है उस से अनेक गुना ज्यादा सामान्य नागरिकों से जानकारियाँ आ रही हैं और ज्यादातर हमें सफलता मिल रही है वो जन-सामान्य की जागरूकता के कारण मिल रही है I कोई कल्पना कर सकता है - मेरे देश का जागरूक नागरिक ऐसे तत्वों को बेनकाब करने के लिए कितना risk ले रहा है और जो जानकारियाँ आ रही हैं उसमें ज्यादातर सफलता मिल रही है I मुझे विश्वास है कि सरकार ने इसके लिये जो एक e-mail address इस प्रकार की ख़बरें देना चाहते हैं उनके लिए बनाया है I उस पर भी भेज सकते हो, MyGov पर भी भेज सकते हो I सरकार ऐसी सारी बुराइयों के साथ लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है और जब आपका सहयोग है तो फिर लड़ना बहुत आसान है I

तीसरे पत्र, लेखकों का ग्रुप ऐसा है, वे भी बहुत बड़ी संख्या में हैं  I वो कहते हैं मोदी जी थक मत जाना, रुक मत जाना और जितना कठोर कदम उठा सकते हो, उठाओ, लेकिन अब एक बार रास्ता पकड़ा है तो मंजिल तक पहुंचना ही है I मैं ऐसे पत्र लिखने वाले सब को विशेष रूप से धन्यवाद करता हूँ क्योंकि उनके पत्र में एक प्रकार से विश्वास भी है, आशीर्वाद भी है I मैं आपको विश्वास दिलाता हूँ कि ये पूर्ण विराम नहीं है, ये तो अभी शुरुआत है, ये जंग जीतना है और थकने का तो सवाल ही कहाँ उठता है, रुकने का तो सवाल ही नहीं उठता है और जिस बात पर सवा-सौ करोड़ देशवासियों का आशीर्वाद हो, उसमें तो पीछे हटने का कोई प्रश्न ही नहीं उठता है I आपको मालूम होगा हमारे देश में ‘बेनामी संपत्ति’ का एक कानून है I Nineteen Eighty Eight उन्नीस सौ अठास्सी में बना था, लेकिन कभी भी न उसके Rules बनें, उसको Notify नहीं किया, ऐसे ही वो ठंडे बस्ते में पड़ा रहा I हमनें उसको निकाला है और बड़ा धार-धार ‘बेनामी संपत्ति’ का कानून हमने बनाया है I आने वाले दिनों में वो कानून भी अपना काम करेगा I देशहित के लिये, जनहित के लिये, जो भी करना पड़े, ये हमारी प्राथमिकता है I

मेरे प्यारे देशवासियो, पिछली बार भी ‘मन की बात’ में मैंने कहा था कि इन कठिनाइयों के बीच भी हमारे किसानों ने कड़ी मेहनत कर के ‘बुवाई’ में पिछले साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया I कृषि क्षेत्र के दृष्टि से ये शुभ संकेत हैं I इस देश का मजदूर हो, इस देश का किसान हो, इस देश का नौजवान हो इन सब के परिश्रम आज नये रंग ला रहे हैं I पिछले दिनों विश्व के ‘अर्थ मंच’ पर भारत ने अनेक क्षेत्र में अपना नाम बड़े गौरव के साथ अंकित करवाया है I हमारे देशवासियों के लगातार प्रयासों का परिणाम है कि अलग-अलग Indicators के ज़रिये अलग-अलग Indicators के ज़रिये भारत की वैश्विक ranking में बढ़ोतरी दिखाई दे रही है I World Bank की doing business report में भारत की ranking बढ़ी है I हम भारत में business practices को दुनिया के  best Practices के बराबर बनाने का तेज़ी से प्रयास कर रहे हैं और सफलता मिल रही है I UNCTAD उसके द्वारा जारी world investment report के अनुसार top prospective host economies for 2016-18 में भारत का स्थान तीसरा पहुँच गया है I World Economic Forum के  global competitiveness  Report में भारत ने 32 Rank की छलांग लगाई है I global innovation index 2016 में हमने 16 स्थानों की बढ़त हासिल की है और World Bank के Logistics Performance Index 2016 में 19 rank की बढ़ोतरी हुई है I कई report ऐसे हैं जिसके मूल्यांकन भी इसी ओर इशारा करते हैं I भारत तेज़ी से आगे बढ़ रहा है I

मेरे प्यारे देशवासियो, इस बार संसद का सत्र देशवासियों की नाराज़गी का कारण बना, चारों तरफ संसद के गतिविधि के संबंध में रोष प्रकट हुआ I राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपति जी ने भी प्रकट रूप से नाराज़गी व्यक्त की, लेकिन इस हालत में भी, कभी-कभी कुछ अच्छी बात भी हो जाती है और तब मन को एक बहुत संतोष मिलता है I संसद के हो-हल्ले के बीच एक ऐसा उत्तम काम हुआ जिसकी तरफ देश का ध्यान नहीं गया है I भाइयो-बहनो, आज मुझे इस बात को बताते हुए गर्व और हर्ष की अनुभूति हो रही है कि दिव्यांग-जनों पर जिस Mission को ले करके मेरी सरकार चली थी, उससे जुड़ा एक बिल संसद में पारित हो गया, इसके लिये मैं लोकसभा और राज्यसभा के सभी सांसदों का आभार व्यक्त करता हूँ, देश के करोड़ों दिव्यांग-जनों की तरफ से आभार व्यक्त करता हूँ I दिव्यांगों के लिए हमारी सरकार Committed है I 

मैंने निजी-तौर पर भी इसे लेकर मुहिम को गति देने की कोशिश भी की है I मेरा इरादा था, दिव्यांग-जनों को उनका हक़ मिले, सम्मान मिले, जिसके वो अधिकारी हैं I हमारे प्रयासों और भरोसों को हमारे दिव्यांग भाई-बहनों ने उस वक़्त और मजबूती दी जब वे Paralympics में चार Medal जीत करके ले आये, उन्होंने अपनी जीत से न केवल देश का मान बढ़ाया बल्कि अपनी क्षमता से लोगों को आश्चर्य चकित भी कर दिया I हमारे दिव्यांग भाई-बहन भी देश के हर नागरिक की तरह हमारी एक अनमोल विरासत है, अनमोल शक्ति है I मैं आज बेहद खुश हूँ कि दिव्यांग-जनों के हित के लिए ये कानून पास होने के बाद दिव्यांगों के पास नौकरी के ज्यादा अवसर होंगे I सरकारी नौकरियों में आरक्षण की सीमा बढ़ा करके 4%  कर दी गयी है I इस कानून से दिव्यांगो की शिक्षा, सुविधा और शिकायतों के लिए विशेष प्रावधान भी किये गए हैं I दिव्यांगों को ले करके सरकार कितनी संवेदनशील है इसका अंदाज़ आप इस बात से लगा सकते हैं कि केंद्र सरकार ने पिछले दो वर्ष में दिव्यांग-जनों के लिए चार हज़ार तीन सौ पचास कैंप लगाए I तीन सौ बावन करोड़ रूपयों की राशि खर्च करके पाँच लाख अस्सी हज़ार दिव्यांग भाई-बहनों को उपकरण बाँटे I सरकार ने United Nation की भावना के अनुरूप ही नया कानून पारित किया है I पहले दिव्यांगों की श्रेणी सात प्रकार की हुआ करती थी, लेकिन अब कानून बना करके उसे इक्कीस प्रकार की कर दी गई हैं I इसमें चौदह नई श्रेणियाँ और जोड़ दी हैं I दिव्यांगों की कई ऐसी श्रेणियाँ शामिल की गयी हैं जिसे पहली बार न्याय मिला है, अवसर मिला है I जैसे- Thalassemia, Parkinson’s, या फिर बौनापन, ऐसे क्षेत्रों को भी इस श्रेणी के साथ जोड़ दिया गया है I

मेरे युवा साथियो, पिछले कुछ हफ्तों में खेल के मैदान में ऐसी ख़बरें आईं जिसने हम सब को गौरवान्वित कर दिया I भारतीय होने के नाते हम सब को गर्व होना बहुत स्वाभाविक है I भारतीय cricket टीम की इंग्लैंड के खिलाफ़ चार शून्य से सीरीज में जीत हुई है I इसमें कुछ युवा खिलाड़ियों की Performance काबिले तारीफ़ रही I हमारे नौजवान करुण नायर ने Triple Century लगाई, तो, के.एल. राहुल ने 199 रनों की पारी खेली I टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने तो अच्छी batting के साथ-साथ अच्छा नेतृत्व भी दिया I भारतीय क्रिकेट टीम के off-spinner गेंदबाज आर. अश्विन को ICC ने वर्ष 2016 का ‘Cricketer Of The Year’ और ‘Best Test Cricketer घोषित किया है I इन सब को मेरी बहुत-बहुत बधाईयाँ, ढेर सारी शुभकामनायें I हॉकी के क्षेत्र में भी पंद्रह साल के बाद बहुत अच्छी खबर आई, शानदार खबर आई | Junior Hockey Team ने World Cup पर कब्ज़ा कर लिया I पंद्रह साल के बाद ये मौका आया है जब Junior Hockey Team ने World Cup जीता I इस उपलब्धि के लिये नौजवान खिलाड़ियों को बहुत-बहुत बधाई |  ये उपलब्धि भारतीय हॉकी टीम के भविष्य के लिये शुभ संकेत है I पिछले महीने हमारी महिला खिलाड़ियों ने भी कमाल करके दिखाया I भारत की महिला हॉकी टीम ने Asian Champions Trophy भी जीती और अभी-अभी कुछ ही दिन पहले Under 18 Asia Cup भारत की महिला हॉकी टीम ने Bronze Medal हासिल किया I मैं क्रिकेट और हॉकी टीम के सभी खिलाड़ियों को ह्रदय से बहुत-बहुत अभिनन्दन करता हूँ I


मेरे प्यारे देशवासियो, 2017 का वर्ष नई उमंग और उत्साह का वर्ष बने, आपके सारे संकल्प सिद्ध हों, विकास की नई ऊँचाइयों को हम पार करें I सुख चैन की ज़िन्दगी जीने के लिए ग़रीब से ग़रीब को अवसर मिले, ऐसा हमारा 2017 का वर्ष रहे I 2017 के वर्ष के लिये  मेरी तरफ से सभी देशवासियों को अनेक-अनेक शुभकामनायें I   
    
  बहुत-बहुत धन्यवाद I


 Listen here: https://youtu.be/FiSS5IrcMlw

Friday, 16 December 2016

Junior Hockey World Cup 2016: Host Team India sparks bright!


AIR wishes Team for their Semi-Final tonight

The 11th edition of the Junior Hockey World Cup for men has set its foot in Lucknow, Uttar Pradesh. The hockey fever has hit the State on 8 December, 2016 which will continue till 18 December, 2016.

The top 16 teams in the World are vying for the title over a total of 44 matches which will be held over ten days.  The matches are being played at Major Dhyanchand Stadium, Lucknow.


This is the second time that India is hosting Men's Junior World Cup Hockey Tournament, and for second successive time it is being held in India.
New Delhi hosted the last edition in 2013, where Germany claimed their sixth title beating France 5-2 in the final.

The host team India has stunned everyone with their consistent performance so far in the championship. Indian team started off their campaign on a winning note by defeating Canada by 4-0 in their opening Pool D match on 8 December 2016.

India recorded second win over Team England on 10 December 2016 at Major DhyanChand Stadium, Lucknow. Host team won the match with 5-3 and carved a clean win over England. India secured their place in the Quarter Finals.

India’s third straight win was against South Africa. The match was played on December 12. India defeated SA by 2-1. 

India then faced Team Spain in the Quarter Finals and once again sparked the sky by winning their game. They won the match by 2-1.
India will now face Australia in the Semi-Finals today at 6pm.

Wednesday, 14 December 2016

The landfall which shook Southern India: Cyclone Vardah



12th of December, Monday, saw substantial rains in Tamil Nadu and Andhra Pradesh, when MeT reported the warning of Cyclone Vardah, making landfall around 15km far from Chennai between 3pm to 5pm.

Chennai, the capital city which saw immense floods last year, claimed as the worst downpour Chennai witnessed in years which brought along serious destruction was prepared for another natural calamity. 


Seven teams of the National Disaster Response Force, along with six army columns and a number of state response personnel, were pressed into service to provide relief to affected people. The city geared up for the storm.




The Cyclone Vardah escalated into an extreme cyclonic storm over the Bay of Bengal on weekend and made landfall Monday afternoon close to the Coast of Tamil Nadu.
The cyclone hit the land with wind speed of 120 to 130 Kmph, which brought along heavy downpours lashing the coast of Tamil Nadu and Andhra Pradesh. 

20,000 individuals were evacuated from the low lying areas and around 10 people died (As reported by NDTV) in the cyclonic storm which created a havoc in these states, bringing normal life to a halt.




 Chennai saw overwhelming downpours and winds of up to 120kph (75mph) causing schools and businesses to shut their doors.




Transportation and commuting, in Chennai and encompassing districts was affected after train and air services were suspended in view of the extreme weather conditions. Flight operations at the Chennai airport came to a standstill, along with that suburban railway services and long distance trains were also halted by the authorities. 



Rescue and relief operations are currently in process as the violent wind brought about broad demolition bringing on dangling of cables, uprooting of thousands of trees on almost every road. 
As reported by The Times of India, ‘over 2,803 trees are estimated to have fallen, of which Greater Chennai Corporation cleared about 700.’


Trees fell and crashed on vehicles and blocked highways and roads. The authorities claim that Chennai is back on normal life as flight and train operations have resumed functioning. 

Tuesday, 13 December 2016

Voice of the Kalaburagi Mass crosses a major milestone

It could be very apt if one chooses to call the All India Radio (AIR) as `Voice of the Mass’, for its wide reach and credible content, bereft of the mad TRP shenanigans of the modern private media channels. In the historical Kalaburagi city in the north eastern part of Karnataka, the Akashavani Kendra, has crossed a major milestone by successfully completing the most eventful 50 years. Started on 11 November 1966, the erstwhile Gulbarga AIR station was dedicated to the nation by the then Union Information and Broadcasting Minister Rajbahadur in the presence of the then Karnataka PWD Minister Veerendra Patil who subsequently became the chief minister of the state.
It would be very difficult to measure the impact created by the powerful audio medium by any yardstick but one can safely say, from the day one the Akashvani has become an integral part of the common man in one of the admittedly most backward and deprived regions of India. One has yet come across a competitor to the AIR in preserving, promoting, and propagating the rich cultural heritage of the Hyderabad Karnataka region. In the last 50 years the station has created a treasure trove of archival material of art, music, folklore, culture, history, heritage, and what not. It was very befitting indeed, on the great occasion, a compact disc of vachanas rendered by the celebrated Hindustani vocalist of the region Pandit Siddaram Jambaldinni and selected from the Kalaburagi AIR archive was released.
Inaugurating the celebrations at a glittering function at the S.M.Pandit Rangamandir on Monday, Union Minister for Information and Broadcasting Mr.Venkaiah Naidu lauded the role played by the Kalaburagi AIR in empowering the people of the region through a series of useful programmes. Some of the propgrammes creating lasting impact and becoming worthy emulation by others include providing a powerful platform for the effective implementation of MGNREGA, ` Yashaswi SSLC’ for improving the results of SSLC examinations, promoting Swachch Bharat Abhiyan through the high impact making jingles, Magha Sandesha, a unique weather forecast programme by combining scientific method and the time tested traditional almanac prediction, etc.
``In the times of undesirable trend of sensationalism, news corrupted with views, it is only the AIR which has maintained purity, integrity and credibility’’ Mr.Naidu said. Responding to the complaints of radio viewership drastically coming down, the minister was optimistic that the days will not be too far when people will fall back to radio for news and entertainment. He also promised to overcome the shortage of radio sets in the market in six months.
MPs Mallikarjun Kharge, Bhagawanth Khuba and Basawaraj Patil Sedam underlined the need for radio expanding its horizons and continue to maintain sanctity in the days of private channels increasingly becoming commercial and abhorring the real public cause. AIR Director General F.Sheheryar released the souvenir `Kallarali Hovagi’ (Blossoming of a Stone). The inaugural attraction was a youth choir (song and dance) on Swachch Bharat Theme by Omkar Nrutya Sadhana of Kalaburagi. The inauguration was followed by a number of cultural events.
From: Srinivas Sirnoorkar, Journalist, Kalaburagi. 11/12/2016

Sunday, 11 December 2016

#AIRKalaburgi completes 50years of service


Venkaiah Naidu to grace Golden jubilee of AIR, Kalaburgi

All India Radio Kalburgi (Gulbarga) shall commemorate its 50th anniversary on 11th November 2016 in a glittering function to be held to mark the occasion. Hon’ble  Minister for Information & Broadcasting Shri M Venkaiah Naidu has consented to be the Chief Guest. The function will commence at 3pm at AIR, Gulbarga.
On this occasion, the Hon’ble Minister will release an audio CD of renowned Hindustani Classical Singer, Pt. Sidharam Jambaldinni, who is known for his rich, soulful and sonorous vocal rendition particularly a novel singing style  based on the lyrics of ‘vachanas’ which are primarily philosophical compositions of various “Shivasharanas” led by 12th  century social reformer and philosopher Lord Basaveshwar. 
The cultural event held on the occasion shall feature popular and renowned   artistes like Kavitha Mathapati and Uma Kulkarni Kamsale, folk performance by Mahadeva Shetty and Party and a dance sequence on Swachch Bharat theme  by Malashree Kanavi and Party.
videoOther dignitaries who wii also be  part of this celebration are; Sri Mallikarjun Kharge, Hon’ble MP,and the leader of the Opposition in  Lok Sabha,  Sri Basavaraja Patil Sedam, Hon’ble MP, Rajya Sabha; Sri Bhagavant Khuba, Hon’ble MP, Lok Sabha,Bidar.
  Since its commissioning on 11th November 1966 AIR Kalaburgi (Gulbarga) has played a yeoman service towards promotion and preservation of the distinct  cultural heritage of the Hyderabad-Karnataka region by patronizing the literary , folk and musical traditions . It has also played a catalytic role in the development narrative of the region by  proactively carrying the development messages particularly in the areas of health, education, agriculture , skill development, micro financing, rural development ,  child and women development, governance issues etc.
Though initially an ancillary station to AIR, Dharwad, it became an independent station later  and primarily covers Gulbarga, Bidar and Yadgir Districts. It also serves neighbouring parts of Maharashtra and Telangana which come under the secondary coverage.
During this long journey of 50 glorious years, AIR Kaliburgi has many  unique , noteworthy trendsetting broadcasting achievements and has earned many accolades both at state and national levels. 
Keli-Kali (Listen and Learn) a series  conceptualized and developed based on the academic syllabus for primary school children was appreciated and adapted for the state wide broadcast by the department of Education, Govt of Karnataka. This concept was subsequently adapted by Sarva Shikshan Abhiyaan at the National Level.
Similarly, Yashasvi SSLC’ – a radio series programme aimed at improving the passing percentage of SSLC students (Secondary Education) in the educationally backward Hyderabad Karnataka region. An integrated broadcast format coupled with two-way communication was adaptedfor imparting handy tips and technicalities of writing examination.
AIR, Gulbarga conceived and initiated a serial sponsored programme titled ‘Krishi Marata Margadarshi’ (Agricultural Marketing Guide) by the Karnataka StateAgricultural Marketing Board (KSAMB) locally. Appreciating the effectiveness of this programme the concept was adapted and elevated by KSAMB for implementing at the state level. This apparently contributed for the increased total revenue earnings.
On technical front AIR, Gulbarga was the first to impress upon the need for establishing VPN network for the state of Karnataka, when the decommissioning of S-Band Frequency resulted in chaos. For the first time in the history of All India Radio, a VPN link was tested successfully between AIR, Bengaluru and Gulbarga. Further, all the stations in Karnataka were networked through VPN, enabling a quickest means of audio/data file transfer and it has become a cost effective technological approach for the purpose. This project  was awarded a prize for technical excellence at the Akashvani Annual Award competition. Similarly, an award for ‘Best maintained difficult station’ was bagged by the station at National level.
As regards commercial revenue, AIR Gulbarga is proud to earn more than 200% of the target fixed for 2016-17. Artists of AIR Gulbarga  are regularly  featured in the National Programme of Music, Regional Folk and Light Music Programme and other National Programmes.